Dainik Navajyoti Logo
Thursday 17th of June 2021
 
अजमेर

राजस्थान: सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को गले में लटकाने होंगे परिचय-पत्र

Monday, January 20, 2020 01:10 AM
शिक्षा संकुल
अजमेर। सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को अब प्राइवेट स्कूलों के बच्चों व शिक्षकों की तरह गले में परिचय-पत्र लटकाने होंगे। केन्द्र सरकार द्वारा समग्र शिक्षा की वार्षिक कार्ययोजना एवं बजट सत्र 2019-20 में राजकीय विद्यालयों के शिक्षकों को परिचय-पत्र उपलब्ध कराने के लिए प्रदेश में करीब 155 लाख रुपए का बजट जारी किया गया है। प्रति कार्ड पर अधिकतम 30 रुपए खर्च होंगे। 
 
राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद की राज्य परियोजना निदेशक अभिषेक भगोतिया की ओर से जारी निर्देश के अनुसार शिक्षकों व संस्था प्रधानों के परिचय-पत्र जिला कार्यालय द्वारा तैयार कराकर उपलब्ध कराए जाएंगे। इस पर जिला परियोजना समन्वयक के हस्ताक्षर होंगे। पूरे प्रदेश में एकरूपता को ध्यान में रखते हुए परिचय-पत्र का प्रारूप, कार्ड, डोरी एवं होल्डर एक जैसे होंगे। कार्ड पर मुद्रित होने वाला विवरण पीईईओ तथा शहरी क्षेत्र में संस्था प्रधानों से प्रमाणित करना होगा। 
 
यह होगी जानकारी 
परिचय-पत्र के एक ओर शिक्षक की रंगीन फोटो, नाम, पद, जन्मतिथि व विद्यालय का नाम के साथ जिला, ब्लॉक, ग्राम व यू-डाइस कोड के साथ शिक्षक के पिता/पति का नाम, राजकीय सेवा में प्रथम नियुक्ति तिथि, कार्मिक आई.डी., ब्लड ग्रुप एवं मोबाइल नम्बर के साथ घर का स्थाई पता अंकित होगा। कार्ड पर परिचय पत्र जारी करने वाले अधिकारी के पदनाम सहित हस्ताक्षर होंगे। 
 
इनके जारी नहीं होंगे
सरकारी विद्यालयों में कार्यालयों में कार्यरत, प्रतिनियुक्ति पर अन्यत्र लगे शिक्षकों व मंत्रालयिक कर्मचारियों के साथ जिन शिक्षकों की सेवानिवृत्ति में एक वर्ष से कम का समय होने पर पहचान-पत्र जारी नहीं किए जाएंगे। शिक्षकों को तबादला, सेवानिवृत्त, सेवा परित्याग की स्थिति में पहचान-पत्र वापस जमा कराना होगा। 
 

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

समाज में भेदभाव मिटने तक आरक्षण नहीं हटाया जा सकता : संघ

पुष्कर के माहेश्वरी सेवा सदन में आयोजित आरएसएस की तीन दिवसीय समन्वय बैठक का समापन सोमवार को हुआ। बैठक में खास तौर पर जल सीमा व थल सीमा की सुरक्षा व विकास पर गहनता से मंथन किया गया। राष्ट्र भक्त कार्यकर्ता तैयार करने की व्यूहरचना मेगा स्तर पर बनाई गई, वहीं सीमा पर आने वाले लोगों और खासकर युवाओं को जोड़ने के लिए सीमा पर ‘सलाम’ नाम से अभियान चलाया जाएगा।

09/09/2019

ब्यावर: कार सवारों पर हमला, एक का अपहरण

शहर के सेंदड़ा रोड स्थित पेट्रोल पंप पर बुधवार शाम पेट्रोल भरवा रहे कार सवारों पर बोलेरो में आए बदमाशों ने फिल्मी स्टाइल में हमला कर दिया। वे कार में सवार चार-पांच लोगों से मारपीट कर एक को अपने साथ बोलेरो में डालकर ले गए। हमले व अपहरण की इस वारदात से क्षेत्र में सनसनी फैल गई

29/05/2019

अजमेर में मिला संक्रमित 7 दिन से घूम रहा था बाजारों में, कम्युनिटी स्प्रेडिंग का बढ़ा खतरा

अजमेर में मिला पहला कोरोना पॉजिटिव मरीज 22 मार्च को पंजाब से आया था। उसके बाद से ही वह शहर में लगातार लोगों के बीच में घूम रहा था। ऐसे में जयपुर के बाद अब अजमेर में भी कोरोना के कम्युनिटी स्प्रेडिंग का खतरा बढ़ गया है।

28/03/2020

महिला राजस्व अधिकारी को रिश्वत लेते दबोचा

अजमेर नगर निगम से सात दिन पहले एपीओ हो चुकी राजस्व अधिकारी रेखा जैसवानी को एसीबी की अजमेर यूनिट की स्पेशल टीम ने गुरुवार शाम को तीन हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए दबोचा।

05/03/2020

अमृतकौर अस्पताल में की 9 संदिग्ध मिले मरीजों की स्क्रेनिंग, विदेश से लौटे हैं सभी लोग

कोरोना वायरस को लेकर प्रदेश में जारी अलर्ट के बाद उपखंड क्षेत्र में भी सतर्कता बढ़ा दी गई। जहां एक ओर बाहर से यात्रा कर ब्यावर पहुंचे 9 जनों को कोरोना संदिग्ध मानते हुए चिकित्सा विभाग अलर्ट हो गया। उन्हें राजकीय अमृतकौर चिकित्सालय के आईसोलेशन वार्ड में स्क्रेनिंग कर प्राथमिक उपचार दिया।

20/03/2020

ढाई माह से लापता युवक का शव रेलवे ट्रेक पर नग्न अवस्था में मिला

ब्यावर-खरवा समीपवर्ती रामपुरा मेवातियान क्षेत्र में रेलवे ट्रेक पर रविवार सुबह एक युवक का शव नग्न अवस्था में पड़ा मिला। जिसके कारण क्षेत्र में सनसनी फैल गई।

29/09/2019

अजमेर के JLN अस्पताल में कोरोना के संदिग्ध मरीज ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट बरामद

अजमेर में सोमवार को कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीज ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। बताया जा रहा है कि कोरोना संदिग्ध ने जवाहरलाल नेहरू अस्पताल (जेएलएन) कोविड-19 वार्ड के बाथरूम में रस्सी के फंदे पर लटककर जीवनलीला समाप्त कर ली। आत्महत्या की यह घटना सुबह 6 बजे की बताई जा रही है।

11/05/2020