Dainik Navajyoti Logo
Monday 20th of September 2021
 
अजमेर

पानी के सदुपयोग पर हो शोध, राजस्थान केन्द्रीय विश्वविद्यालय के स्थापना दिवस समारोह में बोले राज्यपाल मिश्र

Tuesday, March 03, 2020 23:45 PM
केन्द्रीय विश्वविद्यालय के स्थापना दिवस समारोह में संविधान की प्रस्तावना का वाचन कराते राज्यपाल

 बांदरसिंदरी ।    राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा कि राज्य की भौगोलिक स्थिति के अनुसार जल एक बड़ी चुनौती है ऐसे में विश्वविद्यालयों को बारिश के पानी का संग्रहण, भूजल पुनर्भरण, जल पुनर्चक्रण व जल संरक्षण का बीड़ा उठाते हुए मानव जीवन के लिए बेहतरीन आयाम स्थापित करने चाहिए। उन्होंने इस क्षेत्र में शोध की आवश्यकता जताते हुए थोड़े पानी का ज्यादा उपयोग कैसे करने और मरुभूमि में धरा को हरियालीयुक्त बनाने के तरीके इजाद करने पर जोर दिया। 

राजस्थान केंद्रीय विश्वविद्यालय के 12वां स्थापना दिवस समारोह में बतौर मुख्य अतिथि राज्यपाल मिश्र ने कहा कि प्रत्येक विश्वविद्यालय में एक संविधान पार्क का निर्माण होना चाहिए। जहां संविधान की प्रस्तावना, मौलिक अधिकार, मौलिक कर्तव्य व नीति-निदेशक सिद्धांत की शिलाएं स्थापित की जाए ताकि इन्हें पढ़कर हर व्यक्तिलाभ उठा सके क्योंकि संविधान को आचरण में लाना हमारा कर्तव्य है। उन्होंने अभिभाषण की शुरुआत में विश्वविद्यालय की उपलब्धियों की प्रशंसा करते हुए कहा कि इस तरह के आयोजन विद्यार्थियों को ना केवल आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करते हुए बल्कि विश्वविद्यालय की प्रतिष्ठा को भी चार-चांद लगाते है। राज्यपाल मिश्र ने वेदों, ग्रंथों, गणित, ग्रहों, ज्योतिष, आयुर्वेद एवं चाणक्य के बारे में चर्चा करते हुए कहा कि ये सभी ज्ञान के भंडार हैं और ज्ञान अर्जित करना विश्वविद्यालय का कर्तव्य है, इसलिए पुस्तक के ज्ञान के अलावा अधिक से अधिक शोध व नवाचार पर जोर देने की आवश्यकता है। इससे पूर्व राज्यपाल ने देश के संविधान की प्रस्तावना व अनुच्छेद 51 क का पठन कर सभी को वाचन भी कराया। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर अरुण पुजारी ने स्वागत भाषण में राज्यपाल मिश्र के व्यक्तित्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि उनके द्वारा लिखित पुस्तकें "जुडीशियल अकाउंटेबिलिटी" व "हिन्दुत्व एक जीवनशैली" के बारे में बताया। कुलपति पुजारी ने कहा कि सबसे प्राचीन कोणार्क मंदिर से विशविद्यालय की तुलना करते हुए कहा कि कोणार्क मंदिर के रथ में 12 चक्र लगे हैं तथा सुराज का उच्चारण सूरज की तरह है और यह विश्वविद्यालय का 12वां स्थापना दिवस है इसलिए कार्यक्रम की शुरुआत भी 12 बार सूर्य नमस्कार से की गई। वर्ष 2009 में स्थापित 12 केन्द्रीय विश्वविद्यालयों में राजस्थान केंद्रीय विश्वविद्यालय भी शामिल है और वर्तमान में विश्वविद्यालय के 12 अध्ययन स्कूलों में शिक्षा दी जा रही है। राज्यपाल मिश्र ने सीयूसीईटी 2020 के पोर्टल का भी लोर्कापण किया। कार्यक्रम मे विश्वविद्यालय में उत्कृष्ट सेवा प्रदान करने हेतु सेवानिवृत्त शिक्षकों को सम्मानित भी किया। वहीं विश्वविद्यालय में आयोजित विभिन्न प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कार भी प्रदान किया गया। कुलसचिव केवीएस कामेश्वर राव ने धन्यवाद ज्ञापित किया। समारोह से पूर्व विश्वविद्यालय के कुलपति पुजारी द्वारा विश्वविद्यालय प्रांगण में विश्वविद्यालय ध्वज का भी रोहण किया गया। कार्यक्रम का समापन विद्यार्थियों द्वारा प्रस्तुत सांस्कृतिक कार्यक्रम से हुआ। 

 

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

सीएम गहलोत का केंद्र पर निशाना, कहा- उड़ाई जा रही है संविधान की मूल भावनाओं की धज्जियां

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने देश में धरना, प्रदर्शन एवं हिंसा पर केंद्र सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा है कि संविधान की मूल भावनाओं की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। गहलोत ने दिल्ली के हालात पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि देश में अराजकता का माहौल है, हम कुछ बोलते हैं तो केंद्र सरकार में बैठे नेताओं को बुरा लगता है।

01/03/2020

बेटियों ने मारी बाजी

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने बुधवार को बारहवीं विज्ञान और वाणिज्य का परीक्षा परिणाम घोषित कर दिया। इस बार भी परिणामों में बेटियां अव्वल रहीं। बोर्ड सचिव मेघना चौधरी ने बोर्ड की वेबसाइट का बटन दबाकर पहले विज्ञान और फिर वाणिज्य का परिणाम घोषित किया। वाणिज्य के मुकाबले विज्ञान वर्ग का परिणाम अधिक रहा

15/05/2019

रोडवेज ने कमाई बढ़ाने के लिए चला छूट का पत्ता

जयपुर-दिल्ली वोल्वो का किराया घटाने के साथ ही दी कई रियायतें

04/09/2019

पुष्कर में कल से शुरू होगा कार्तिक स्नान, इस बार नहीं होगा अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त पुष्कर मेले का आयोजन

अजमेर जिले में तीर्थराज पुष्कर में शनिवार से कार्तिक महीने के आगाज के साथ ही कार्तिक स्नान प्रारम्भ हो जाएंगे। कार्तिक स्नान पूरे एक महीना कार्तिक पूर्णिमा तक जारी रहेंगे। कोरोना वायरस के चलते इस बार अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त पुष्कर मेले का आयोजन नहीं होगा।

30/10/2020

खेतों में दौड़ा पैंथर

खेतों में दौड़ा पैंथर, मसूदा ग्राम पंचायत कानाखेड़ा के ग्राम केसरपुरा के खेतों में रविवार को नर व मादा पैंथर नजर आने से ग्रामीणों में दहशत दौड़ गई।

29/09/2019

बोर्ड की पूरक परीक्षाएं एक अगस्त से

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की वर्ष 2019 की सैद्धांतिक पूरक परीक्षाएं एक से तीन अगस्त तक आयोजित की जाएंगी। जबकि प्रायोगिक पूरक परीक्षाएं 25 जुलाई को होंगी।

24/06/2019

हाईअलर्ट फिर भी पुष्कर में धमाल

देश में कारोना वायरस के हाई अलर्ट के बावजूद पुष्कर में मंगलवार को जमकर धमाल मचा। कपड़े फाड़ने व डीजे पर लगाई गई रोक के बावजूद होली खेलने वालों के उत्साह व उमंग में कोई कमी नहीं आई।

11/03/2020