Dainik Navajyoti Logo
Saturday 18th of September 2021
 
अजमेर

अजमेर में फंसे हैं तीन हजार जायरीन, दरगाह कमेटी के सर्वे में खुलासा

Sunday, March 29, 2020 23:40 PM
अजमेर दरगाह

   

अजमेर। कोरोना वायरस के कारण सम्पूर्ण देश में किए गए लॉकडाउन की वजह से तीन हजार से ज्यादा जायरीन अजमेर में फंसे हुए हैं। दरगाह कमेटी की ओर से कराए गए सर्वे में यह आंकड़ा सामने आया है। जायरीन को उनके घरों तक पहुंचाने के लिए दरगाह कमेटी के अध्यक्ष अमीन पठान ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सहित केन्द्र सरकार के समस्त मंत्रियों एवं सभी प्रदेश के मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है। 
 
 
पठान ने बताया कि दरगाह कमेटी ने दरगाह क्षेत्र में लंगर बांट रहे खुद्दाम एवं स्वयंसेवकों से यह सर्वे कराया है। सर्वे के दौरान एक डाटा शीट में जायरीन के नाम, मोबाइल नम्बर, स्थान, जिला एवं राज्य, अजमेर में कहां ठहरे हुए हैं, साथ में कितने लोग हैं, इन सूचनाओं को एकत्रित किया गया है। सर्वे रिपोर्ट के अनुसार वर्तमान में अजमेर में तीन हजार लोग फंसे हुए हैं। इसमें 70- 80 लोग वह भी हैं, जो रोजगार के लिए अजमेर आते हैं, लेकिन अब कोई कार्य नहीं होने के कारण वह अपने घर जाना चाहते हैं। दरगाह कमेटी तथा भामाशाहों के लिए इन लोगों तक होटलों, लॉज, गेस्ट हाउस व घरों में खाना भिजवाना एक चुनौती बन गया है। यह आंकड़ा चार हजार तक जाने की आशंका है। 
 
 
इन रूट पर चलाएं
 
मोदी और गहलोत को लिखे गए पत्र में पठान ने जायरीन के लिए ट्रेन और बसें चलाने की मांग की है। पठान ने उत्तर प्रदेश, बिहार और पश्चिम बंगाल के जायरीन के लिए अजमेर-जयपुर-कोलकाता एवं पटना रूट पर, महाराष्ट्र, आंध्रप्रदेश, कर्नाटक के जायरीन लिए अजमेर-भोपाल-नागपुर-विजयवाड़ा- चेन्नई रूट पर टेÑन चलाने की मांग की है। जबकि दिल्ली, पंजाब व गुजरात राज्य के जायरीन को बसों के माध्यम से भेजने की मांग की है।
 
 
किस प्रदेश के कितने जायरीन
 
-उत्तर प्रदेश के 569 
-बिहार के 271 
-पश्चिम बंगाल के 744 
-महाराष्ट्र के 255 
-आध्रप्रदेश के 601 
-कर्नाटक के 356 
-गुजरात के 75 
-झारखंड के 77 
-दिल्ली के 21 
-अन्य प्रदेशों के 99
 

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

ACB ने सब इंसपेक्टर से 11.36 लाख की नकदी और शराब पकड़ी, 2 मंजिला मकान सीज

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के दल ने पुलिस उपनिरीक्षक केसर सिंह नरूका से 11 लाख 36 हजार रुपए के साथ ही अंग्रेजी शराब की 21 बोतलें बरामद की हैं। एसीबी ने रिश्वत के आरोपी सब इन्सपेक्टर केशरसिंह के स्थानीय शास्त्रीनगर स्थित दो मंजिला आवास को सीज कर दिया।

12/08/2020

RBSE की कक्षा 9 के पाठ्यक्रम में क्रांतिकारी के रूप में शामिल कप्तान दुर्गाप्रसाद चौधरी

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने स्वतंत्रता सैनानी एवं प्रदेश के मूर्धन्य पत्रकार दैनिक नवज्योति के संस्थापक-संपादक कप्तान दुर्गाप्रसाद चौधरी को बोर्ड की कक्षा 9 के पाठ्यक्रम में क्रांतिकारी के रूप में शामिल किया है। बोर्ड ने कक्षा 9 की पुस्तक ‘राजस्थान का स्वतंत्रता आंदोलन एवं शौर्य परम्परा’ के अध्याय 2 में ‘राजस्थान के क्रांतिकारी ’अध्याय में स्थान दिया है।

05/07/2020

जेल में अवैध वसूली का खेल

अजमेर सेन्ट्रल जेल में बन्दियों को प्रताड़ित कर उनसे सेवा शुल्क के नाम पर की जा रही अवैध वसूली के बहुचर्चित मामले में एसीबी ने एक और आरोपी को गिरफ्तार किया

20/09/2019

हनुमान बेनीवाल ने कृषि कानूनों को बताया काला कानून, केंद्र सरकार से वापस लेने की अपील

राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (रालोपा) के संयोजक एवं नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने केंद्रीय कृषि कानूनों को काला कानून बताते हुए कहा कि केन्द्र सरकार को इन्हें वापस लेना चाहिए। बेनीवाल ने केकड़ी से टोंक जाते समय अजमेर रोड़ स्थित तेजाजी महाराज के दर्शन के बाद मीडिया से यह बात कही। उन्होंने कहा कि कृषि कानून भाजपा की केंद्र सरकार के लिए गले की हड्डी है और उसे अपना काला कानून वापस लेना चाहिए।

02/12/2020

RAS भर्ती-2021 के लिए कल से ऑनलाइन आवेदन, 27 अगस्त लास्ट डेट, 988 पदों के लिए होगी परीक्षा

राजस्थान लोकसेवा आयोग की राजस्थान राज्य एवं अधीनस्थ संयुक्त प्रतियोगी परीक्षा- 2021 के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया 28 जुलाई से शुरू होगी और आवेदक 27 अगस्त तक आवेदन कर सकेंगे। 988 पदों के लिए परीक्षा आयोजित की जाएगी, जिसका परीक्षा कार्यक्रम यथा समय अलग से जारी किया जाएगा।

27/07/2021

कुएं में पड़ा मिला पैंथर का शव

कोटड़ा नाका क्षेत्र के बाड़िया लूम्बा गांव में एक खेत पर बने कुएं में पैंथर का शव मिला

12/06/2019

लॉकडाउन 4.0: राज्य में उपखंड मुख्यालय स्तर पर जोन घोषित, पुष्कर का जोन स्पष्ट नहीं

अजमेर के निकटवर्ती उपखंड मुख्यालय पुष्कर को राजस्थान सरकार ने लॉकडाउन-4 के दौरान किस जोन में रखा है यह साफ नहीं है। खास बात यह है कि पिछले चौबीस घंटे में पुष्कर के निकटवर्ती क्षेत्रों से पॉजिटिव केस निकलकर सामने आ रहे है। बावजूद इसके सरकार का ध्यान पुष्कर पर नहीं गया है।

19/05/2020