Dainik Navajyoti Logo
Tuesday 2nd of March 2021
 
तो अब पर्यावरण कार्यकर्ता दिशा रवि की गिरफ्तारी जेरेबहस है। बेंगलुरु की रहने वाली 22 साल की दिशा रवि पर भारतीय दंड संहिता के अंतर्गत राजद्रोह, समाज में समुदायों के बीच नफरत फैलाने और आपराधिक षड्यंत्र के मामले दर्ज किए गए हैं। दिल्ली पुलिस का कहना है कि दिशा रवि ने वॉट्सऐप ग्रुप बनाया था और उसके जरिए टूलकिट डॉक्यूमेंट एडिट करके वायरल किया।
भीमा कोरेगांव से जुड़े नए खुलासे किसी बड़ी साजिश का इशारा करते हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका स्थित एक डिजिटल फोरेंसिक फर्म ने पाया है कि भीमा कोरेगांव मामले की जांच कर रही पुलिस की ओर से मामले के एक आरोपी रोना विल्सन के एक लैपटॉप में मालवेयर का इस्तेमाल करते हुए 'भड़काऊ' सबूत डाले गए थे।