Dainik Navajyoti Logo
Tuesday 24th of September 2019
नागौर

राजस्थान: नाडी में डूबने से तीन भाई-बहिनों की मौत, खदान के गड्ढे में डूबने से 4 मरे

Monday, August 19, 2019 09:50 AM
तीनों बच्चों के शव और मौके पर जमा लोग।

डीडवाना। मौलासर थाना क्षेत्र के गांव माणकसर में तीन भाई-बहिनों की नाडी में डूबकर मौत होने की जानकारी मिलते ही क्षेत्र में सनसनी फैल गई। सूचना के बाद मौके पर बड़ी संख्या में लोग एकत्रित हो गए और तीनों शव को बाहर निकाला। इसी बीच मौके पर पहुंची मौलासर पुलिस ने तीनों शवों को सोमानी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजन को सौंप दिए।

थानाधिकारी धर्मपाल मीणा ने बताया कि खाखोली निवासी हाल डेरा माणकसर चौलुखां निवासी छोटूराम पुत्र लालूराम बनबागरिया ने रिपोर्ट दी है कि शनिवार देर शाम को उसके तीनों बच्चे गांधी (13), बसंती (11) व धनी (8) डेरे के पास स्थित नाडी में पानी भरने व नहाने के लिए गए थे। नाडी में पानी का भराव अत्यधिक होने के कारण तीनों बच्चे डूब गए। घटना का पता रविवार सुबह चला, जब छोटूराम नाडी की तरफ गया और एक बच्चा तैरता नजर आया। इसके बाद वह पानी में घुसा, जहां उसे दो और बच्चे भी डूबे नजर आए। इस पर उसने पुलिस को सूचित किया। इधर, सूचना पर डिप्टी डीडवाना गणेशाराम चौधरी, डीडवाना तहसीलदार दयान्नंद रुयल, विकास अधिकारी भी मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी ली। पुलिस ने प्रार्थी की रिपोर्ट के आधार पर मृग दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

तालाब में डूबा मासूम
जावला के निकटवर्ती ग्राम खेड़ी खिवसी के तालाब के पास दोस्तों के साथ खेल रहे एक मासूम का पैर फिसल गया, जिससे उसकी तालाब में डूबने से मौत हो गई। इस पर दोस्तों ने ग्रामीणों को सूचना की, जिसके बाद ग्रामीणों ने एक घंटे की मशक्कत के बाद शव को बाहर निकाला। सरपंच प्रतिनिधि हरिराम नैण, सुखदेव राम नैण व गौतम नैण सहित मौजूद लोगों ने पुलिस व प्रशासन को सूचना दी, जिस पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को बागोट चिकित्सालय पहुंचाया, जहां पोस्टमार्टम के बाद शव परिजन को सौंप दिया।

खदान के गड्ढे में डूबने से 4 मरे
सवाईमाधोपुर के कोतवाली थाना इलाके में रविवार शाम को बंद पड़ी एक खदान के गड्ढ़े में भरे बरसात के पानी में डूबकर एक दम्पती और मामा-भांजी सहित चार जनों की मौत हो गई। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने चारों शवों को बाहर निकाला और पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिए। घटना रविवार शाम करीब साढ़े पांच बजे की गत्ता जी की बाबड़ी के सामने रमेश की बंद पड़ी खदान की है। वहां ठठेरा कुंड निवासी शहीदुद्दीन (42) अपनी बहिन शाहजहां (36), उसके पति अनवर अली(40) और दूसरी बहिन की लड़की हिना (17) को घुमाने ले गया था। चारों नहाने के लिए पानी में उतरे जिनमें से एक गड्ढ़े में फंस गया तो अन्य तीनों ने उसे बचाने का प्रयास किया। लेकिन सफल नहीं हुए और सभी लोग पानी में डूब गए। जानकारी के अनुसार मृतक अनवर अली और उसकी पत्नी शाहजहां अपने गांव हाड़ौली हिंडौन सिटी से कुछ दिन पहले घूमने आए हुए थे।