Dainik Navajyoti Logo
Sunday 21st of April 2019
खेल

राजस्थान मस्त, मुंबई पस्त

Sunday, April 14, 2019 12:05 PM

मुंबई। जोस बटलर की 89 रन की तूफानी पारी के बाद राजस्थान रॉयल्स ने अंतिम क्षणों में रोमांचक उतार-चढ़ाव से गुजरते हुए मुंबई इंडियंस को शनिवार को तीन गेंद शेष रहते चार विकेट से हराकर आईपीएल-12 में अपनी दूसरी जीत दर्ज कर ली। मुंबई ने ओपनर क्विंटन डी कॉक की 81 रन की बेहतरीन पारी से पांच विकेट पर 187 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया लेकिन बटलर ने मात्र 43 गेंदों पर आठ चौके और सात छक्के उड़ाते हुए 89 रन ठोक कर राजस्थान को जीत दिला दी। राजस्थान ने 19.3 ओवर में छह विकेट पर 188 रन बनाये। मुंबई को सात मैचों में तीसरी हार का सामना करना पड़ा। राजस्थान की सात मैचों में यह दूसरी जीत रही।

बटलर अपनी मैच विजयी पारी के लिए मैन आॅफ द मैच रहे। राजस्थान ने अंतिम ओवरों में चार रन के अंतराल में चार विकेट गंवाए और वह संकट में फंस गयी लेकिन श्रेयस गोपाल ने सात गेंदों पर दो चौकों की मदद से नाबाद 13 रन बनाकर न केवल राजस्थान को जीत दिलाई बल्कि उसकी उम्मीदों को भी कायम रखा। लक्ष्य का पीछा करते हुए राजस्थान ने 6.2 ओवर में 60 रन की शानदार शुरुआत की। कप्तान अजिंक्या रहाणे और जोस बटलर ने शानदार बल्लेबाजी की। ओपनिंग साझेदारी में रहाणे ज्यादा हावी रहे और उन्होंने 21 गेंदों पर 37 रन में छह चौके और एक छक्का लगाया। रहाणे का विकेट गिराने के बाद बटलर कहर बनकर मुंबई के गेंदबाजों पर टूट पड़े और उन्होंने मात्र 43 गेंदों पर 89 रन में आठ चौके और सात छक्के मारे। बटलर ने अलजारी जोसफ की जमकर खबर ली और उनके पारी के 13वें ओवर में 28 रन ठोक डाले। बटलर ने जोसफ के इस ओवर में 6,4,4,4,4,6 जैसे जबरदस्त शॉट लगाए। इस ओवर ने जोसफ का तीन ओवर का आंकड़ा 53 रन पहुंचा दिया।

बटलर के तूफान को राहुल चाहर ने थामा। बटलर का कैच सूर्यकुमार यादव ने लपका और बटलर का विकेट 14वें ओवर में 147 के स्कोर पर गिरा।  इस सत्र में शतक ठोक चुके संजू सैमसन ने बटलर का काम आगे बढ़ाते हुए रन बटोरना जारी रखा। मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा ने 17वें ओवर में अपने तुरुप के पत्ते जसप्रीत बुमराह को आक्रमण पर लगाया जिन्होंने पांचवीं गेंद पर सैमसन को पगबाधा कर मैच को रोमांचक बना दिया। इस ओवर में सिर्फ तीन रन गए। सैमसन ने 26 गेंदों पर 31 रन में दो चौके और एक छक्का लगाया। राजस्थान को अब अंतिम तीन ओवर में 17 रन चाहिए थे।