Dainik Navajyoti Logo
Thursday 22nd of August 2019
राजस्थान

25 नहीं 50 फीसदी विषयों में कर सकेंगे पुनर्मूल्यांकन आवेदन

Sunday, May 19, 2019 11:45 AM

जयपुर। राजस्थान विश्वविद्यालय के शैक्षणिक सत्र 2018-19 के परीक्षा परिणाम से असंतुष्ट परीक्षार्थी अब पचास प्रतिशत विषयों में पुनर्मूल्यांकन आवेदन कर सकेंगे। इससे पहले 25 प्रतिशत विषयों में ही पुनर्मूल्यांकन किया जा सकता था, जिसे विश्वविद्यालय ने बढ़ाकर 50 प्रतिशत कर दिया है। जिससे परिणाम से असंतुष्ट छात्रों को राहत मिलेगी और जैसे छह पेपर है तो उसमें से तीन पेपरों का पुर्नमूल्यांकन करवा सकते हैं। आरयू के कुलपति प्रो.आरके कोठारी ने छात्रों की मांग को ध्यान में रखते हुए उनको राहत दी है और परीक्षा विभाग को आदेश देते हुए इस बार भी पुनर्मूल्यांकन के नियमों में बदलाव किया है, लेकिन इस प्रक्रिया से छात्रों पर आर्थिक भार पड़ेगा और जेब पर इसका भार भी बढ़ेगा।

परिणाम में गड़बड़ियां आई सामने
आरयू प्रशासन की ओर से हालही में घोषित किए गए परिणाम में कई बड़बड़िया सामने आई है, जिससे विद्यार्थियों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में छात्रों को अब पुर्नमूल्यांकन का अतिरिक्त राहत दी है।