Dainik Navajyoti Logo
Thursday 19th of September 2019
जोधपुर

लोक कला के अनेक विषयों पर गहनता से चर्चा

Tuesday, September 10, 2019 01:30 AM
अन्तर्राष्ट्रीय सेमिनार में विशेषज्ञ अपने विषयों पर चर्चा करते हुए व साथ उपस्थित अन्य विशेषज्ञ

जोधपुर । मेहरानगढ़ दुर्ग में आयोजित चार दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय सेमिनार के दूसरे दिन मंगलवार को तीन सत्रों में विषय विशेषज्ञों ने लोक कला के अनेक विषयों पर चर्चा की व अपने शोध पत्र प्रस्तुत किए। मेहरानगढ़ म्यूजियम ट्रस्ट के निदेशक करणीसिंह जसोल ने बताया कि पूर्व नरेश गजसिंह के संरक्षण व अध्यक्षता में आयोजित इस सेमिनार के दूसरे दिन प्रथम सत्र की अध्यक्षता दलपतसिंह राजपुरोहित ने की ।


जिसमें देहरादून के ग्राफिक इरा यूनिवर्सिटी में शिक्षक इरफान खान, लंदन के रीचर्ड विलियम्स, अम्बेडकर विश्वविद्यालय दिल्ली में शिक्षक तनूजा कोटियाल विचार रखे। द्वितीय सत्र में अध्यक्षता जॉर्ज पोपे ने की व सत्र में रीमा हूजा, तृप्ति पांडे, सैड्रील प्रेवोट, उमब्रेटो मॉडेनी, तीसरे सत्र में बीकानेर के राजस्थान कबीर यात्रा के गोपालसिंह चौहान, जोधपुर के ब्लू सिटी वॉल के गोविन्दसिंह व सेरोन ने भाग लिया।उन्होंने बताया कि सांय 5 बजे लेक्चर डेमोस्ट्रेशन में कलाकार नीना सबनानी व जैसलमेर के कोजाराम व दूसरे लेक्चर डेमोस्ट्रेशन में जोसफ  मिलर व पीरूजी भोपा साथ-साथ थ्योरी व प्रेक्टिस से कला पर प्रयास डाला। सत्रों में सवाल जवाब व शोध पत्र प्रस्तुत किए गए।


आज तीन सत्र होंगे
बुधवार 11 सितम्बर को मेहरानगढ़ दुर्ग में तीन सत्र होंगे। प्रात: 8.30 बजे चौथा सत्र रीमा हूजा की अध्यक्षता, पांचवा सत्र प्रात: 10.30 बजे रिचर्ड विलियम्स की अध्यक्षता, छठा सत्र 12.30 बजे तनूजा कोटियाल की अध्यक्षता में होगा। सातवां सत्र सांय पांच बजे होगा जिसमें कालबेलिया आर्ट एकेडमी व रूपायन संस्थान बोरूंदा व सांय 6.30 बजे जमीला बाई व कुसुम बाई की प्रस्तुतियां तृप्ति पांडे व हिम्मतसिंह के निर्देशन व सांय 7.30 बजे सुगनी सपेरा प्रकाश के निर्देशन में 8 बजे अनिता व प्रेम डांगी की प्रस्तुति होगी।


बेहतरीन कला की मनमोहक प्रस्तुतियां
सेमिनार के दूसरे दिन रात साढ़े आठ बजे बाड़मेर जिले के लोक कलाकार भागे खां ने तंदूर के साथ भजनों की बेहतरीन प्रस्तुतियां दी। साथ में खड़ताल पर गफूर खान जैसलमेर, ढोलक पर मगदा खान ने संगत की। बाल कलाकारों ने स्वरों से सजाई शाम रात्रि 9 बजे पश्चिमी राजस्थान के बाल कलाकारों ने अपने परम्परागत स्वरों से शाम को रंगीन बनाया व दर्शकों की वाहवाही से तालियां बटौरी।  इन कलाकारों में इरफान खान, असलम खान, जकब खान, दारा खान, गफूर खान, मगदा खान, दीना खान, शकूर खान, शेरू खान ने कमायचा, खरताल, ढोलक, अलगोजा लोकवाद्यों के साथ लोक गीतों की शानदार प्रस्तुतियां दीं।