Dainik Navajyoti Logo
Tuesday 24th of September 2019
जयपुर

बगरू में बदमाशों और पुलिस में फायरिंग, तीन राज्यों के मोस्ट वांटेड समेत दो गिरफ्तार

Wednesday, August 21, 2019 17:45 PM
पुलिस की गिरफ्त में बदमाश।

बगरू/जयपुर। जयपुर के जोबनेर थाना इलाके में रंगदारी मांगने समेत अन्य गंभीर वारदात करने की फिराक में घूम रहे बदमाशों और पुलिस में मुठभेड़ हो गई। बदमाशों ने पुलिस से बचने के लिए फायर कर दिए, जिससे दो पुलिसकर्मी छोटूराम और तारांचद के पैर में गोली लगने से घायल हो गए। पुलिस के बहादुर टीम ने हार नहीं मानी और लगातार बदमाशों का पीछा करते रहे। पीछा करने के दौरान बदमाशों की तेज रफ्तार गाड़ी अनियंत्रित होकर चार बार पलटी खा गई, जिससे बदमाश उसमें फंस गए। पीछा कर रही पुलिस ने दो जनों को पकड़ लिया, जबकि एक बदमाश पीछे की घाटी से होकर भाग गया। देर रात तक उस बदमाश की तलाश जारी थी। पकड़ा गया बदमाश जीतू उर्फ जितेन्द्र तीन राज्यों का मोस्ट वांटेड है। पुलिस ने देर रात इससे पूछताछ शुरू कर दी थी। वहीं फायरिंग में घायल हुए सिपाहियों को ग्रीन कॉरिडोर बनाकर जयपुर के एसएमएस अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां उनका इलाज जारी है।

पुलिस ने बताया कि एक कांस्टेबल को सूचना मिली कि बुधवार शाम को करीब पांच बजे जीतू उर्फ जितेन्द्र अपने साथी बदमाशों के साथ जोबनेर इलाके में हथियारों से लैस होकर घूम रहा है। इस पर पुलिस टीम ने एक सरकारी गाड़ी और दो अन्य गाड़ियों से बदमाशों की तलाश शुरू कर दी। शाम करीब पांच बजे बदमाश की गाड़ी जोबनेर थाना इलाके के आसलपुर फाटक पर मिल गई। पुलिस को देख बदमाशों ने तुरंत फायरिंग शुरू कर दी। फायरिंग में गोली कांस्टेबल छोटूराम और तारांचद के पैर में लगी। इसके बाद बदमाश फायरिंग करते हुए भागने लगे। पुलिस टीम ने बदमाशों की गाड़ी का पीछा कर दो जनों जितेन्द्र और सुनील को पकड़ लिया। पुलिस टीम इन्हें पकड़कर बगरू थाने में लेकर गई।

शंकर बलाई ने अजमेर में किया सरेंडर
जानकारी के अनुसार अजमेर में फरवरी में डकैती के दौरान मनी एक्सचेंजर मनीष मूलचंदानी की हत्या के मामले में फरार चल रहे जीतू के साथी शंकर बलाई ने बुधवार को कोतवाली अजमेर में सरेंडर कर दिया। शंकर ने रणजीत, जीतू समेत अन्य के साथ मिलकर अजमेर में मनीष मूलचंदानी के यहां डकैती डालकर लाखों रुपए लूटे थे। ये सभी जब डकैती डालकर भाग रहे थे, तब मनीष ने इनकी कार का गेट पकड़ लिया तो रणजीत ने फायर कर दिया था। जिसमें मनीष की मौत हो गई थी। अब शंकर ने बुधवार को सरेंडर कर दिया।

मुंह पर कपड़ा बांधकर की थी फायरिंग
जितेन्द्र उर्फ जीतू सोमवार रात करीब डेढ़ बजे जयपुर-अजमेर हाईवे पर हरध्यानपुरा बस स्टैण्ड के पास एक होटल पर रंगदारी मांगने पहुंचे थे। जब होटल मालिक ने रंगदारी नहीं दी, तो इन बदमाशों ने फायरिंग शुरू कर दी, जिससे अफरा-तफरी मच गई। ये बदमाश मुंह पर कपड़ा बांधकर आए थे और कार से उतरकर पहले फायरिंग की और उसके बाद दो बदमाशों ने पेट्रोल से भरी जरीकेन से होटल की पार्किंग में खड़ी तीन गाड़ियों पर पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी। इसके बाद बदमाश हवा में फायरिंग कर फरार हो गए। गोली होटल के कांच से होकर दीवार में जा घुसी। बदमाश फायरिंग कर अजमेर की ओर फरार हो गए।

डीसीपी वेस्ट विकास कुमार शर्मा ने बताया कि जोबनेर इलाके में बदमाशों और पुलिस में फायरिंग हुई थी, जिसमें दो सिपाही घायल हुए हैं। इनका इलाज चल रहा है। वहीं फायरिंग करने वाले दो बदमाशों को पकड़ लिया गया है। जिनसे पूछताछ की जा रही है।