Dainik Navajyoti Logo
Thursday 19th of September 2019
दुनिया

भारत ने पाकिस्तान को बताया आतंकवाद का अड्डा, विश्व समुदाय से एकजुट होने का आह्वान

Tuesday, September 10, 2019 15:45 PM
यूएनएचआरसी (फाइल फोटो)

जेनेवा। भारत ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (यूएनएचआरसी) की बैठक में पाकिस्तान पर जोरदार रूप से बरसते हुए उस पर अपनी जमीन से आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देने का आरोप दोहराया और विश्व समुदाय से अंतरराष्ट्रीय समुदाय के गंभीर चुनौती बने इस खतरे पर एकजुट होने का आह्वान किया। विदेश मंत्रालय में सचिव (पूर्व) विजय ठाकुर सिंह ने यूएनएचआरसी की 42 वीं बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि विश्व खासकर भारत, ने किसी देश द्वारा प्रायोजित आतंकवाद का बड़ा दंश झेला है। अब समय आ गया है कि जीने के अधिकार जैस आधारभूत मानवाधिकार के लिए खतरा बने आतंकवादी समूहों और उन्हें शह देने वाले देश के खिलाफ विश्व समुदाय सर्वसम्मति से निर्णायक फैसला लें। ठाकुर ने कहा कि विश्व समुदाय को इसके खिलाफ आवाज बुलंद करनी चाहिए। चुप रहने से आतंकवाद को केवल बढ़ावा ही मिलेगा और आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देने की उनकी कुलसित एवं घिनौनी मानसिकता को भी बल मिलेगा। उन्होंने कहा कि भारत विश्व समुदाय से आतंकवाद और  उसे प्रायोजित करने वालों के खिलाफ लड़ाई में एकजुट होने की अपील करता है।

पाक कर रहा है भारत के खिलाफ गलत बयानबाजी
सिंह ने पाकिस्तान पर भारत के खिलाफ लगातार गलत बयानबाजी करने का आरोप लगाते हुए कहा कि विश्व को पता है कि अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद के केन्द्र से भारत के खिलाफ गलत बयानबाजी की जा रही है और उस देश में आतंकवाद के आकांओं को वर्षों से पनाह मिलता रहा है।

आखिर पाकिस्तान ने कबूला, जम्मू-कश्मीर भारतीय राज्य
पाकिस्तान चाहे कितनी भी कोशिश कर ले लेकिन सच कभी ना कभी तो जुबां पर आ ही जाता है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी का एक विडियो वायरल हुआ। यह विडियो संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद की बैठक हिस्सा लेने जिनेवा पहुंचे कुरैशी के मीडिया संबोधन का है। इस विडियो में वह एक तरफ भारत पर मानवाधिकार के उल्लंघन के आरोप लगा रहे हैं तो दूसरी तरफ वह कश्मीर को भारतीय राज्य भी स्वीकार कर रहे हैं। बता दें कि पाकिस्तान इसे भारत प्रशासित कश्मीर कहता है। कुरैशी ने कहा कि भारत दुनिया को यह जताने की कोशिश कर रहा है कि कश्मीर में जिंदगी सामान्य हो गई है। अगर जिंदगी सामान्य है तो वे अंतरराष्ट्रीय मीडिया, अंतरराष्ट्रीय संगठन, एनजीओ, सिविल सोसायटी को भारत के राज्य जम्मू-कश्मीर में जाने क्यों नहीं दे रहे। उन्हें खुद सच्चाई क्यों नहीं देखने दे रहे।

यूएनएचआरसी कश्मीर से कर्फ्यू हटाने का करे अनुरोध
पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद को भारत से कश्मीर में लागू कर्फ्यू तत्काल हटाने तथा संचार व्यवस्था को  बहाल करने के लिए अनुरोध करना चाहिए। कुरैशी ने यहां यूएनएचआरसी के 42वें सत्र में अपने संबोधन में कहा कि भारत से पैलेट गन के इस्तेमाल पर रोक लगाने, सभी नजरबंद नेताओं को रिहा करने तथा मानवाधिकार कार्यकर्ताओं को निशाना नहीं बनाने के लिए भी कहा जाना चाहिए। पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने भारत पर जम्मू-कश्मीर में मानवाधिकारों के हनन का आरोप लगाते हुए कहा कि उसे संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों और मानवाधिकार घोषणा पत्रों का पालन करना चाहिए। उन्होंने परिषद से जम्मू-कश्मीर में मानवाधिकारों के उल्लंघन की जांच एक आयोग गठित कर वहां भेजने की मांग की।