Dainik Navajyoti Logo
Monday 14th of October 2019
दुनिया

जेम्स पीबल्स, माइकल मेयर और डीडियर क्वेलोज को भौतिकी का नोबेल पुरस्कार

Wednesday, October 09, 2019 15:35 PM
फोटो साभार_ट्विटर@NobelPrize

स्टाकहोम। फिजिक्स के क्षेत्र में साल 2019 के लिए नोबेल पुरस्कार की घोषणा कर दी गई है। इस बार तीन लोगों को भौतिक विज्ञान में योगदान के लिए नोबेल दिया गया है। कनाडा मूल के अमेरिकी ब्रह्मांड वैज्ञानिक जेम्स पीबल्स, स्विस खगोलशास्त्रियों माइकल मेयर और डीडियर क्वेलोज को इस साल के भौतिकी के नोबेल पुरस्कार के लिए चुना गया है।

रॉयल स्वीडिश अकैडमी ऑफ साइंस के जनरल सेक्रेटरी गोरान के. हैन्सन ने बताया कि जेम्स पीबल्स को ब्रह्माण्ड विज्ञान पर नए सिद्धांत रखने के लिए जबकि मिशेल मेयर और डिडिएर क्वेलोज को सौरमंडल के बाहर एक और ग्रह खोजने के लिए संयुक्त रूप से पुरस्कार दिया गया है। मिशेल और डिडिएर ने 51 पेगासी बी ग्रह की खोज की थी। गैस से बना यह विशाल ग्रह पृथ्वी से 50 वर्ष दूर एक तारे की परिक्रमा कर रहा है। जेम्स पीबल्स कनाडाई मूल के अमेरिकी नागरिक हैं। उन्होंने बिग बैंग, डार्क मैटर और डार्क एनर्जी पर जो काम किया है, उसे आधुनिक ब्रह्मांड विज्ञान का आधार माना जाता है। जूरी ने कहा कि उनकी खोजों ने हमारी धारणाओं को हमेशा के लिए बदल दिया है।

जेम्स पीबल्स प्रिंसटन यूनिवर्सिटी में अल्बर्ट आइंस्टाइन प्रोफेसर ऑफ साइंस हैं, जबकि मिशेल मेयर यूनिवर्सिटी ऑफ जिनीवा और डिडिएर क्वेलोज यूनिवर्सिटी ऑफ़ कैंब्रिज में प्रोफेसर हैं। पुरस्कार की घोषणा के बाद जेम्स पीबल्स ने विज्ञान के छात्रों को सीख देते हुए कहा कि जो नए लोग विज्ञान की दुनिया में आ रहे हैं, उनके लिए मेरी सलाह है कि उन्हें विज्ञान से प्रेम करते हुए इसे अपनाना चाहिए।

इस साल भौतिकी के नोबेल पुरस्कार की राशि का आधा हिस्सा जेम्स को मिलेगा, जबकि दूसरे हिस्से को मेयर और डिडिएर के बीच आधा-आधा बांट दिया जाएगा। इस पुरस्कार के तहत एक स्वर्ण पदक, एक डिप्लोमा और करीब 90 लाख स्वीडिश क्रोनर (नौ लाख 14 हजार अमेरिकी डालर) दिया जाएगा। तीनों वैज्ञानिकों को यह सम्मान स्टाकहोम में 10 दिसंबर को प्रदान किया जाएगा। इस पुरस्कार की शुरूआत करने वाले वैज्ञानिक अल्फ्रेड नोबल की दस दिसंबर को पुण्यतिथि होती है जिनका निधन 1896 में हुआ था।