Dainik Navajyoti Logo
Tuesday 24th of September 2019
भारत

राहुल गांधी और अन्य विपक्षी नेताओं को हवाई अड्डे पर रोका

Sunday, August 25, 2019 10:50 AM
श्रीनगर एयरपोर्ट पर रोके गए राहुल गांधी और अन्य विपक्षी नेता।

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाए जाने बाद कश्मीर घाटी की स्थिति का जायजा लेने के लिए शनिवार को श्रीनगर पहुंचे कांग्रेस सांसद राहुल गांधी, पार्टी के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव सीताराम येचुरी तथा कुछ अन्य विपक्षी नेताओं को प्रशासन ने शहर में जाने की अनुमति नहीं दी और उन्हें हवाई अड्डे पर ही रोक लिया गया। इसके बाद उन्हें वापस दिल्ली भेज दिया गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रशासन ने श्रीनगर में सुरक्षा हालात का हवाला देते हुए नौ विपक्षी दलों के प्रतिनिधिमंडल को हवाई अड्डे से बाहर निकलने की अनुमति नहीं दी। विपक्षी नेताओं का दल करीब दो बजे श्रीनगर हवाई अड्डे पर पहुंचा।

मीडियाकर्मियों को भी नहीं मिलने दिया
रिपोर्टों के अनुसार मीडिया ने जब विपक्षी नेताओं के प्रतिनिधिमंडल से मिलने का प्रयास किया तो उसे मिलने नहीं दिया गया। 12 सदस्यीय इस प्रतिनिधिमंडल में कांग्रेस के महासचिव के सी वेणुगोपाल, पार्टी के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा, लोकतांत्रिक जनता दल के नेता शरद यादव, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव डी राजा, द्रमुक नेता तिरुचि शिवा, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी नेता माजिद मेमन, तृणमूल कांग्रेस के नेता दिनेश त्रिवेदी तथा राष्ट्रीय जनता दल के प्रवक्ता मनोज झा शामिल हैं।

जमीनी स्थिति का जायजा लेने गए थे
गांधी की अगुवाई में नौ विपक्षी दलों का यह प्रतिनिधिमंडल वहां की जमीनी स्थिति का जायजा लेने के लिए आया था। बसपा और सपा इस प्रतिनिधिमंडल में शामिल नहीं थी।

प्रशासन ने पहले ही किया था मना
जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने शुक्रवार को ही एक वक्तव्य जारी कर विपक्षी नेताओं से आग्रह किया था कि वे फिलहाल कश्मीर घाटी में न आएं और प्रशासन के साथ सहयोग करें।

आज साफ हो गया कि कश्मीर में हालात सामान्य नहीं : राहुल
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने श्रीनगर हवाई अड्डे से लौटाए जाने के बाद कहा कि अब यह स्पष्ट है कि जम्मू-कश्मीर में हालात सामान्य नहीं हैं। कुछ दिनों पूर्व मुझे जम्मू-कश्मीर दौरे के लिए राज्यपाल ने आमंत्रित किया था, मैंने न्योता स्वीकार कर लिया था। हम वहां के लोगों की भावनाओं को जानना चाहते थे, लेकिन हमें हवाई अड्डे से बाहर निकलने की अनुमति नहीं दी गई। हमारे साथ गए मीडियाकर्मियों के साथ धक्का-मुक्की की गई। यह स्पष्ट है कि जम्मू-कश्मीर में स्थिति सामान्य नहीं है।