Dainik Navajyoti Logo
Thursday 19th of September 2019
भारत

श्रीनगर में खुले प्राइमरी स्कूल, घाटी में दूसरी पाबंदियों में भी दी जा रही ढील

Monday, August 19, 2019 14:05 PM
जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा व्यवस्था में तैनात भारतीय सेना के जवान (फाइल फोटो)।

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने के बाद ऐहतियातन बंद किए श्रीनगर के 190 प्राइमरी स्कूल सोमवार से खोले गए हैं। घाटी में करीब 14 दिन बाद स्कूल खुले, ऐसे में बच्चों में एक अलग-सा उत्साह दिखा। स्कूल के आस-पास भारी संख्या में सुरक्षाबल तैनात किया गया। सेना समेत अन्य सुरक्षा बलों को हर हालात से निपटने के लिए अलर्ट रहने को कहा गया है। प्रशासन पूरी तरह से सतर्क है ताकि किसी तरह की अप्रिय घटना ना हो। सीनियर क्लासेज के स्कूलों को खोलने का फैसला हालात की समीक्षा के बाद ही होगा। घाटी में कॉलेज में एग्जाम की सुविधा पर विचार किया जाएगा, साथ ही जितने दिन स्कूल बंद रहे उतने दिन के लिए एक्सट्रा क्लास चलाई जाएगी अब धीरे-धीरे पूरी सुविधा को आगे बढ़ाया जाएगा।

प्रशासन के मुताबिक स्थिति सामान्य होते ही धीरे-धीरे अन्य क्षेत्रों के स्कूलों में भी पढ़ाई शुरू हो जाएगी। स्कूलों के खुलने के साथ ही घाटी में दूसरी पाबंदियों में भी लगातार ढील दी जा रही है। रोहित कंसल ने रविवार को संवाददाताओं को बताया कि निषेधाज्ञा में ढील देने की प्रक्रिया जारी है। प्रदेश के 50 पुलिस थाना क्षेत्रों में प्रतिबंधों में ढील दी गयी, जबकि शनिवार को 35 थाना क्षेत्रों में ऐसा किया गया था। कंसल ने बताया कि सोमवार से नया हफ्ता शुरू हो रहा है और हम इसे नई आशा के साथ देख रहे हैं।


बता दें कि जम्मू में रविवार को 5 जिलों में कम गति की 2जी मोबाइल इंटरनेट सेवाएं अस्थायी रूप से बंद कर दी गई है। एक दिन पहले ही इन सेवाओं को बहाल किया गया था। जम्मू के पुलिस महानिरीक्षक ने कहा कि तकनीकी कारणों से 2जी सेवाएं अस्थायी रूप से बंद कर दी गईं और तकनीकी खामियों का पता लगाया जा रहा है व जल्द से जल्द सेवाओं की बहाली सुनिश्चित करने के प्रयास किये जा रहे हैं। इससे पहले एक पुलिस अधिकारी ने कहा था कि अफवाहों को फैलने से रोकने और शांति बनाए रखने के लिए यह फैसला लिया गया।