Dainik Navajyoti Logo
Sunday 25th of August 2019
भारत

अब कढ़ाई में बचे तेल से बनेगा बायो डीजल

Sunday, August 11, 2019 10:55 AM

नई दिल्ली। पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस तथा इस्पात मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने अपशिष्ट खाद्य तेल (यूसीओ) से निर्मित बायो डीजल की खरीद के लिए सरकारी तेल विपणन कंपनियों इंडियन ऑयल, हिंदुस्तान पेट्रोलियम और भारत पेट्रोलियम की ओर से अभिरुचि पत्र (ईओआई) जारी किया। ऑयल मार्केटिंग कंपनियां इसके लिए प्राइवेट कंपनियों से समझौता करेंगी, जो बायो डीजल बनाने के लिए प्लांट लगाएंगी। प्रधान ने विश्व जैव धन दिवस के अवसर पर मुख्य अतिथि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन के साथ यूसीओ के संग्रह को सुगम बनाने के लिए आरयूसीओ (पुनरोद्देशित अपशिष्ट खाद्य तेल) पर एक स्टीकर और एक मोबाइल एप लांच किया। 

अपशिष्ट खाद्य तेल खाना पकाने के बर्तन में बचा हुआ तेल है। अभिरुचि पत्र में प्रावधान है कि इस तेल से बायो डीजल बनाने का संयंत्र स्थापित करने वाले उद्यमी तेल कंपनियों से लाभकारी मूल्य एवं उत्पादन के संपूर्ण खरीद का आश्वासन प्राप्त कर सकते हैं। पहले साल में एक सौ शहरों में बायो डीजल के लिए 51 रुपए प्रति लीटर, दूसरे वर्ष के लिए 52.7 रुपए प्रति लीटर एवं तीसरे वर्ष के लिए 54.5 रुपए प्रति लीटर का भुगतान किया जाएगा। तेल विपणन कंपनियां परिवहन एवं पहले साल के लिए जीएसटी की लागत भी वहन करेंगी।