Dainik Navajyoti Logo
Tuesday 16th of July 2019
शिक्षा जगत

130 से कम अंक तो कॉमन रैंक लिस्ट में नहीं मिलेगा स्थान

Friday, June 14, 2019 11:10 AM

जयपुर। देश की अति प्रतिष्ठित इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई एडवांस-2019 का 27 मई को आयोजित की गई थी। आईआईटी रुड़की प्रशासन की ओर से जारी इंफॉर्मेशन बुलेटिन के अनुसार शुक्रवार को सुबह 10 बजे प्रतिष्ठित जेईई एडवांस परीक्षा का परिणाम घोषित कर दिया जाएगा। प्रतिष्ठित आईआईटी संस्थानों में प्रवेश के लिए निश्चित तौर पर कड़ी परीक्षा ली जाती है।

सभी विषयों के साथ विद्यार्थी की प्रत्येक विषय पर पकड़ को जांचा जाता है। जेईई एडवांस की कॉमन रैंक लिस्ट में स्थान पाकर जोसा द्वारा आयोजित काउंसलिंग में भाग लेने के लिए विद्यार्थी को कुल अंकों की एक न्यूनतम पात्रता के साथ ही प्रत्येक विषय में न्यूनतम अंकों की पात्रता भी हासिल करना होगा। ऐसे में कॉमन रैंक लिस्ट में स्थान पाने के लिए सामान्य वर्ग के विद्यार्थियों को कुल न्यूनतम 35 प्रतिशत अंक तथा प्रत्येक विषय में 10 फीसदी अंक हासिल करने हैं। जेईई एडवांस-2019 का प्रश्न पत्र के लिए कुल अधिकतम अंक 372 है।

फिजिक्स, केमिस्ट्री तथा मैथमेटिक्स प्रत्येक विषय के अधिकतम अंक 124 है। अर्थात यदि सामान्य वर्ग के विद्यार्थी को कॉमन रैंक लिस्ट में स्थान प्राप्त करना है तो निश्चित तौर पर कुल अंक 130 से अधिक होने आवश्यक है तथा फिजिक्स, केमेस्ट्री, मैथमेटिक्स प्रत्येक विषय में कुल 12 अंकों से अधिक अंकों की आवश्यकता है।

टाई से संबंधित नियम
जेईई एडवांस-2019 के परीक्षा परिणाम जारी करने के लिए टाई होने की स्थिति के नियम बिल्कुल अलग एवं अत्यधिक तार्किक है। यदि दो या दो से अधिक विद्यार्थियों के कुल अंक समान है तो निश्चित तौर पर टाई होता है। टाई की स्थिति में विद्यार्थी के धनात्मक अंको को प्राथमिकता दी जाती है। अर्थात जिस विद्यार्थी के धनात्मक अंक ज्यादा है, उसे बेहतर रैंक प्राप्त होती है। यदि धनात्मक अंक भी समान है तो फिर गणित विषय के अंकों को प्राथमिकता दी जाती है। तत्पश्चात भौतिक विज्ञान के अंकों की प्राथमिकता के आधार पर रैंक निर्धारित होती है। फिर भी यदि टाइ होता है तो विद्यार्थियों को सामान रैंक दे दी जाती है।

रसान विज्ञान और उम्र को प्राथमिकता
टाई होने की स्थिति में क्रमश: बायोलॉजी, रसायन विज्ञान, भौतिक विज्ञान, सामान्य ज्ञान तथा विद्यार्थी की अधिक उम्र को प्राथमिकता दी जाती है। किंतु जेईई एडवांस में टाई होने की स्थिति में रसायन विज्ञान विषय को तथा विद्यार्थी की उम्र को कोई प्राथमिकता नहीं दी जाती है।

दोनों पेपर के अंकों का होगा योग
प्रत्येक विषय के कुल अंकों से तात्पर्य उस विषय के पेपर-1 व पेपर-2 के अंकों का योग है। इसी तरह कुल अंकों का तात्पर्य पेपर-1 एवं पेपर-2 के अंको के योग से है। ईडब्ल्यूएस श्रेणी के लिए प्रत्येक विषय में 11 से अधिक अंक तथा कुल अंकों का 117 से अधिक होना आवश्यक है। एससीए एसटी तथा दिव्यांग श्रेणी के विद्यार्थियों के लिए प्रत्येक विषय में 6 से अधिक अंक तथा कुल अंकों का 65 से अधिक होना आवश्यक है। आरक्षित वर्ग के विद्यार्थी यदि महत्वपूर्ण प्रीपरेटरी कोर्स की पात्रता हासिल करना चाहते हैं तो प्रत्येक विषय में 3 से अधिक अंक तथा कुल अंक 32 से अधिक होना आवश्यक है।