Dainik Navajyoti Logo
Monday 14th of October 2019
स्वास्थ्य

बिना किसी सर्जिकल उपचार के झुर्रियों से छुटकारा, बोटोक्स ट्रीटमेंट से मिलेगा लाभ

Thursday, October 03, 2019 18:20 PM
कॉन्सेप्ट फोटो।

जयपुर। ढलती उम्र की निशानियां हमारे शरीर में भी देखने के मिलती है और इसका पहला आईना चेहरा होता है। चेहरे पर बढ़ती झुर्रियां और कसावट कमजोर होने जैसी समस्या एक दिन सभी को झेलनी पड़ती है। लेकिन वातावरण में मौजूद प्रदूषण, वंशानुगत असर और लाइफस्टाइल जैसे कई कारक हैं जो त्वचा को प्रभावित करते हैं और वक्त से पहले ही झुर्रियां आने लगती हैं। झुर्रियां देर से पड़ें इसलिए एंटी एजिंग उत्पादों का प्रयोग किया जाता है। इनमें सबसे आम इलाज बोटोक्स ट्रीटमेंट है। एक विशेषज्ञ कॉस्मेटोलॉजिस्ट से परामर्श लेकर बोटोक्स का सही उपयोग करने से आप अपने चेहरे की झुर्रियों ठीक कर सकते हैं। यह ट्रीटमेंट तीस वर्ष से अधिक की उम्र के लोगों के लिए ही है। इस ट्रीटमेंट का लाभ पुरुष और महिलाएं दोनों उठा सकते हैं।

क्या होता है बोटोक्स ट्रीटमेंट
नारायणा मल्टी स्पेशियलिटी हॉस्पिटल के सीनियर कॉस्मेटिक सर्जन डॉ. सुनीश गोयल ने बताया कि बोटोक्स यानी बोटयुलिनस टॉक्सिन न्यूरोटॉक्सिंस नामक रसायन होता है जो हमारी त्वचा के लिए जवानी देने का काम करता है। बोटोक्स इंजेक्शन के द्वारा स्किन के मांसपेशियों में दी जाती है। इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं होता है।

विशेषज्ञ से ही लें परामर्श
बोटोक्स के माध्यम से झुर्रियों का इलाज विश्व के कई देशों में किया जाता है लेकिन यह सर्जीकल उपचार की श्रेणी में नहीं आता। त्वचा में झुर्रियों की जांच करने के बाद ही उनमें बोटोक्स इंजेक्ट करने की मात्रा तय की जाती है। इसके लिए आपको एक अनुभवी विशेषज्ञ से ही झुर्रियों का उपचार कराना चाहिए। डॉ. गोयल ने बताया कि आमतौर पर एक से तीन इंजेक्शन हर मांसपेशी में लगाए जाते हैं, इंजेक्शन से होने वाले मामूली दर्द को डॉक्टर लोकल एनस्थीसिया देकर दूर करते हैं। इनके उपचार के 20 घंटे बाद ही सुइयों के निशान मिट जाते हैं।